धनबाद :- निरसा क्षेत्र के कुमारधुबी ओपी अंतर्गत धान कूड़ा बस्ती में किराए के मकान में एक 55 अधेड़ व्यक्ति ने फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर डाली।

जानकारी के अनुसार मृतक अशोक सिंह कोरोना काल से ही अपने काम से बैठ गए थे। मृतक पास के ही एमबीई कंपनी में ठीकेदारी में काम करता था। जिसके बाद वो डिप्रेशन में आ गया था। खाने के लाले पड़ गए थे। जिसके बाद मृतक के दो पुत्र सुमित और अमित जो खेलने कूदने के उम्र में पेट के भूख मिटाने के लिए काम पर लग गए। जिंदगी  ठीक ठाक ही चल रहा था कि अचानक बुधवार की देर शाम अशोक सिंह ने घर के दीवार पर लगे कील के सहारे गले मे मफलर के सहारे फांसी लगा ली।

सूचना मिलते ही मौके पर देर रात कुमारधुबी पुलिस पहुंची और मामले की छानबीन की मामले का पंचनामा कर चले गए और बताया गया कि  देर रात होने के कारण शव का पोस्टमार्टम कल सुबह यानी गुरुवार को किया जाएगा। फिलहाल शव को मृतक के घर पर ही छोड़ दिया गया है। पुलिस शव को अपने कब्जे में नही ली।

आपको बता दें कि मृतक अशोक सिंह के दो बेटा एवं तीन बेटी है। पत्नी का वर्षो पहले निधन हो गया था।  जिसमें तीनों बेटी का विवाह हो गया है। दोनों बेटा अभी खेलकूद व पढ़ाई की उम्र में काम कर रहा हैं। पिता के मौत की ख़बर सुन कर बड़ी बेटी ससुराल से अपने पिता से मिलने आ गयी। 

मृतक के बड़े बेटे सुमित कुमार ने बताया कि छोटा भाई काम पर गया था और हम बाजार सब्जी लाने गए थे शाम के समय जब घर आया तो देखा पापा ने फांसी लगा ली थी। दोपहर सब ठीकठाक था। शाम को अचानक ना जाने क्या हो गया। घटने के बाद पूरा परिवार में मातम पसरा हुआ है। इधर बच्चों का रो रो कर बुरा हाल है।

निरसा से पंकज विद्रोही की रिपोर्ट  

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *