पटना :- इस वर्ष कोविड-19 महामारी के तीव्र प्रसार के कारण कई लोग इस बीमारी से प्रभावित हुए थे। महामारी एवं लॉकडाउन के बावजूद बैंककर्मियों द्वारा अनवरत बैंकिंग सेवाएं लोगों तक उपलब्ध कराई गयी। इसकी प्रशंसा कोविड महामारी प्रबंधन पर आतंरिक मामलों की संसदीय समिति द्वारा भी की गयी तथा बैंककर्मियों को कोरोना वारियर का दर्जा प्रदान किया गया । महामारी के दौरान जारी  बैंकिंग सुविधाओं के कारण बैंकों के कई स्टाफ सदस्य न केवल कोरोना वायरस से संक्रमित हुए बल्कि कुछ की जान भी चली गयी । ऐसे में यह आवश्यक है कि बैंक के स्टाफ सदस्यों का टीकाकरण किया जाए।

इसी आलोक में आज पंजाब नैशनल बैंक द्वारा बैंककर्मियों के लिए टीकाकरण अभियान आयोजित किया गया। ध्यातव्य है कि पंजाब नैशनल बैंक द्वारा सभी बैकों के स्टाफ सदस्यों तथा उनके परिवार के लिए पूर्व में भी दो बार टीकाकरण अभियान आयोजित किया जा चुका है। राजधानी पटना के चाणक्य होटल में 14 अगस्त को आयोजित टीकाकरण कैम्प में टीका के प्रथम डोज के साथ-साथ दुसरा डोज भी दिया गया। इस कैम्प में लगभग 152 स्टाफ तथा उनके परिवार के सदस्यों को प्रथम व दुसरा डोज दिया गया।

इस कार्य हेतु स्वास्थ्य विभाग, राज्य प्रतिरक्षण पदाधिकारी तथा राज्य सरकार के सहयोग का संजय काण्डपाल, अंचल प्रबंधक, पंजाब नैशनल बैंक, पटना द्वारा आभार व्यक्त किया गया। इसके अतिरिक्त पटना के प्रमुख व्यवसायी तथा चाणक्य होटल के मालिक अखिल कोचर का इस कार्य हेतु परिसर उपलब्ध कराने पर माननीय काण्डपाल द्वारा उनका भी धन्यवाद किया गया। टीकाकरण कैम्प का प्रबंधन अवधेश आनंद, अग्रणी जिला प्रबंधक, पंजाब नैशनल बैंक द्वारा किया गया ।

0Shares

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *