नई दिल्ली :-  नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने यूजीसी नेट दिसंबर 2020 सत्र की परीक्षा और जून 2021 सत्र की परीक्षा को मर्ज कर दिया है। अब दोनों सत्रों की परीक्षा एक साथ 6 अक्टूबर से 11 अक्टूबर 2021 के बीच आयोजित होगी। कोरोना के चलते दिसंबर 2020 सत्र की परीक्षा के आयोजन और जून 2021 की आवेदन की प्रक्रिया में देरी हुई, इसलिए दोनों सत्रों की परीक्षा को एक साथ करवाया जा रहा है। अक्टूबर में होने वाली यूजीसी नेट परीक्षा के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इच्छुक उम्मीदवार ugcnet.nta.nic.in व nta.ac.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन की अंतिम तिथि 5 सितंबर 2021 है। फीस भुगतान की अंतिम तिथि 6 सितंबर 2021 है। उम्मीदवार 7 सितंबर से 12 सितंबर के बीच अपने आवेदन पत्र में करेक्शन कर सकेंगे।

पहले दिसंबर 2020 सत्र की यूजीसी नेट परीक्षा 2 मई से 17 मई 2021 के बीच होने वाली थी। लेकिन कोरोना के चलते इसे स्थगित कर दिया गया था। यूजीसी नेट दिसंबर 2020 के लिए आवेदन की प्रकिया फरवरी-मार्च 2021 में चली थी।  ऐसे उम्मीदवार जिन्होंने यूजीसी नेट दिसंबर 2020 की परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन किया लेकिन वह पूरी तरह से आवेदन सब्मिट नहीं कर पाए, वह भी https://ugcnet.nta.nic.in, www.nta.ac.in पर जाकर आवेदन पूरा कर सकते हैं।

6 अक्टूबर से 11 अक्टूबर के बीच परीक्षा का आयोजन दो शिफ्ट में होगा। पहली शिफ्ट सुबह 9 बजे से 12 बजे तक और दूसरी शिफ्ट दोपहर तीन बजे से छह बजे तक होग। परीक्षा का आयोजन कम्प्यूटर आधारित (CBT) मोड से किया जाएगा। इस टेस्ट में दो पेपर होंगे। दोनों पेपर में विकल्पीय प्रश्न होंगे।

देश भर के विश्वविद्यालयों और अन्य उच्च शिक्षा संस्थानों में जूनियर प्रोफेसर फेलोशिप और सहायक प्रोफेसर के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा का आयोजन वर्ष में दो बार, आमतौर पर जून और दिसंबर, में किया जाता है। वर्ष 2020 में कोविड-19 महामारी के चलते जून की परीक्षा के आयोजन मे देरी हुई थी और बाद में एनटीए ने परीक्षा का आयोजन 16 सितंबर से 18 सितंबर और 21 सितंबर से 25 सितंबर तक किया था। जून परीक्षा की देरी के चलते यूजीसी नेट दिसंबर 2020 परीक्षा के आयोजन में भी देरी हुई। यूजीसी नेट दिसंबर 2020 के लिए आवेदन की प्रकिया फरवरी-मार्च 2021 में चली।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *