पटना:कोरोना को लेकर बिहार में लगाए गए लॉकडाउन के दौरान राज्य सरकार का लोगों को रोजगार मुहैया कराना सबसे बड़ी चुनौती है। इस को देखते हुए गुरुवार को सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में एक बैठक हुई। जिसमें बिहार की उप मुख्यमंत्री सह आपदा प्रबंधन मंत्री रेणु देवी ने भी वर्चुअल माध्यम से हिस्सा लिया। बैठक में शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले मजदूरों को मनरेगा के तहत और रोजगार किस तरह मिले, इस को लेकर चर्चा हुई। रोजगार के साथ गरीब असहाय और बेघर लोगों को लॉकडाउन के दौरान दो वक्त का खाना मिले, इसके लिए पूरे बिहार में चलाए जा रहे कम्युनिटी किचन की जानकारी भी बैठक में सीएम नीतीश कुमार ने वर्चुअल माध्यम से ली।

आपदा विभाग और ग्रामीण विकास विभाग से जुड़ी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में सीएम नीतीश कुमार ने कई निर्देश दिए। सीएम नीतीश ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान इच्छुक सभी लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए तत्परता से काम करें। सभी लोगों को रोजगार मिले, यह सुनिश्चित हो। बिहार में कोई मजदूर काम से वंचित ना रह जाए। ग्रामीण क्षेत्रों के अलावा शहरी क्षेत्रों में भी गरीब लोगों को रोजगार मिलना चाहिए। श्रमिकों का पारिश्रमिक समय से मिले यह भी सुनिश्चित होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने बैठक के दौरान दिए ये अहम निर्देश सीएम नीतीश ने कहा कि जल जीवन हरियाली अभियान में ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार मुहैया कराया जाए। जिससे रोजगार से जुड़ी दिक्कत कम होगी। जहां भी मजदूरों से कार्य लिया जाएगा, उन सभी जगहों पर कोविड-19 गाइडलाइन का पालन कराया जाए। माइकिंग के द्वारा गांव-गांव तक रोजगार की उपलब्धता पर लोगों को जानकारी दें। साथ ही कोरोना वायरस को लेकर लोगों को सतर्क और सजग करने के लिए लगातार अभियान चलाते रहें। बैठक में सीएम नीतीश कुमार ने आपदा विभाग को निर्देश देते हुए कहा कि सभी जिलों में निर्धन, गरीब एवं असहायों लोगों के लिए सामुदायिक किचन का सुचारू रूप से संचालन कराएं। जिससे ऐसे लोगों को किसी प्रकार की असुविधा ना हो सके। इन केंद्रों पर भी कोरोना गाइडलान का पालन कराया जाए। इस बैठक में वर्चुअल माध्यम से उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, उप मुख्यमंत्री रेणु देवी समेत प्रदेश के विभिन्न आला अधिकारी मौजूद रहे।

0Shares
Total Page Visits: 231 - Today Page Visits: 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *